राजनीति

मील का पत्थर साबित होगा इन इलाकों में 114.3 किलोमीटर का सड़क निर्माण कार्य : सांसद

सड़के केवल आवागमन का साधन नहीं हैं बल्कि लोगों के आर्थिक, सामरिक एवं शैक्षणिक विकास में भी निभाती है महत्वपूर्ण भूमिका : सांसद 

औरंगाबाद। गया और औरंगाबाद के लिए बड़ी खुशखबरी है। भारत सरकार ने 01 अरब 23 करोड़ 40 लाख रुपये की लागत से 114.3 किलोमीटर की लंबी सड़क बनाने की परियोजना एल.डब्ल्यू.ई (वामपंथी उग्रवाद प्रभाग) को स्‍वीकृति मिल गई है। इस योजना के तहत ऐसे सड़कों का निर्माण होना है जो जंगली, पहाड़ी, दुर्गम एवं नक्सल प्रभावित इलाका हैं। यह न सिर्फ यहां के लोगों के लिए आवागमन का साधन बनेगा बल्कि इनके आर्थिक, शैक्षणिक व समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करेगा। इस मामले की जानकारी देते हुए सासंद सुशिल कुमार सिंह ने कहा कि यह नक्सल प्रभावित इलाकों के लिए अच्छी सौगात हैं। यह यहां के लोगों के लिए मिल का पत्थर साबित होगा। औरंगाबाद और गया जिला वामपंथी उग्रवाद प्रभावित जिलों की सूची में आता है जिसको लेकर हमने पूर्व में यहां के सड़कों की यथा स्थिति को लेकर इन क्षेत्रों में सड़क निर्माण कराने के लिए भारत सरकार से मांग किया था जिसमें गृह मंत्री के आदेशों के उपरांत मेरे संसदीय क्षेत्र औरंगाबाद और गया में एल डब्ल्यू ई (वामपंथ उग्रवाद) रोड कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट के तहत स्वीकृति मिल गयी है। इसमें कुल 114.3 किलोमीटर दुर्गम पहाड़ी एवं नक्सल प्रभावित इलाकों में सड़क निर्माण कार्य भारत सरकार द्वारा करवाया जाएगा जिसके निर्माण कार्य पर 01 अरब 23 करोड़ 40 लाख रुपए खर्च होंगे। सांसद ने कहा कि देश के विकास के साथ-साथ इन दोनों जिलों का विकास हो जिसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुत ही उन्नत और अच्छी सोच के तहत इन्हें आकांक्षान जिलों की सूची में रखा हैं। इस योजना का मूल उदेश सड़क, बिजली, सिंचाई, शिक्षा एवं पेयजल सहित अन्य विकासात्मक क्षेत्रों में कार्य करना है। हमारी कोशिश है कि जो देश का औसत विकास हैं उससे भी अधिक हमारे संसदीय क्षेत्र का विकास हो। इसके लिए हम सतत संघर्ष करते रहेंगे। यह निर्माण कार्य के क्षेत्र में बहुत बड़ी कदम है। किसी भी क्षेत्र के विकास में सड़कों की अहम भूमिका होती है। इन सड़कों से न सिर्फ लोगों की आवागमन में सुविधा होगी बल्कि शासन-प्रशासन को भी कानून व्यवस्था स्थापित करने में सहूलियत मिलेगी। इसके अलावा यहां के किसान अपनी उत्पाद को आसानी से बाजार ले जा सकेंगे और उससे अच्छी आमदनी भी कर पाएंगे। वहीं रोजगार का भी सृजन होगा। सांसद ने कहा कि इसके अलावा और भी मेरा प्रस्ताव भारत सरकार के यहां है जो निकट भविष्य में स्वीकृति मिलेगी। जब होगी तो उसकी जानकारी दे दी जाएगी। इस स्वीकृति के मामले में सांसद ने अपने संसदीय क्षेत्र की जनता की ओर से प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को धन्यवाद दिया है।

114.3 किलोमीटर सड़क निर्माण कार्यों की सूची : 

गया जिला

मलाही मोड़ (भइया बिगहा) से जेंदूपुर (महुअरी) 12.50 किलोमिटर

लटुआ – लटुआ असुरैन ब्रिज : 03 किलोमिटर

कंचन – अंबाबार : 03 किलोमिटर

सलैया – झारखंड बॉर्डर : 02 किलोमिटर

फतेहपुर – लुटिटंड : 03 किलोमिटर

लटखुट्टा – चौराहा पोखरिया : 03 किलोमिटर

झराना- जीतेतर : 10 किलोमिटर

जगरनाथ – रेवडा चौराहा वाया नौकाडीह : 04 किलोमिटर

औरंगाबाद जिला –

चिलमी टोला – लंगूराहीं : 09 किलोमिटर

रामा बांध – अंबा भारती : 02 किलोमिटर

प्रेम नगर – डोकरी : 1.5 किलोमिटर

जुड़ाही नहर – भंडारी : 17 किलोमिटर

वकीलगंज – चिलमी रोड वाया भगवानपुर पीतांबरा लालटेन गंज : 07 किलोमिटर

धकपहहारी – सागरपुर : 04 किलोमिटर

अंबा नबीनगर – चकुआ : 4.60 किलोमिटर

बिश्रामपुर – मुरगरा – नारायणपुर : 04 किलोमिटर

परैया – गंजोई : 03 किलोमिटर

पसिया भंडारी – बंगला बगीचा : 02 किलोमिटर

चिंगील – बंगला : 04 किलोमिटर

भलुआही – झरना मुलाम : 04 किलोमिटर

वन बिशुनपुर – छुछिया दुलारे : 04 किलोमिटर

पताल गंगा – तालाब : 0. 08 किलोमिटर

नरची – नरची गेट : 0.80 किलोमिटर

देव बेलसारा- महिला संसाधन केंद्र गार्डन 0.08 किलोमिटर

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button