राजनीति

फेसर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन ठहराव को लेकर डीआरएम से मुलाकात करेंगे सांसद 

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत गरीबों में बांटे गए झोले से भरे अन्न
औरंगाबाद। पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत अन्न से भरे झोले वितरण अभियान में रविवार को सदर प्रखंड के फेसर में सांसद सुशील कुमार सिंह के द्वारा गरिबों के बीच अन्न से भरे झोले का वितरण किया गया। इस विशेष अवसर पर सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी से उपजे हालात से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत की गयी। ताकि जरूरतमंद गरीबों के बीच मुफ्त में राशन वितरण किया जा सके। यह गरिबों के हक में ऐतिहासिक कदम हैं। इसका लाभ लोगों को नवंबर तक मिलेगा। कोरोना महामारी का असर सबसे ज्यादा मजदूरों व गरीब वर्गो पर पड़ा है। इसी को देखते हुए गरीब परिवारों के बीच राहत सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। कहा कि गरीब-मजदूरों एवं ज़रूरतमंदों के विकास के लिए हमारे प्रधानमंत्री कृत संकल्पित है। उनके द्वारा इन वर्गों के उत्थान के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। उनकी सोच सर्वोदय एवं आत्मनिर्भरता जैसे सिद्धांतों के अनुरूप हैं। कहा कि इस अभियान के तहत हमारे संसदीय क्षेत्र के औरंगाबाद एवं गया जिले में एक लाख अन्न से भरे झोले वितरण का लक्ष्य रखा गया है। हमारे प्रधानमंत्री की परवरिश गरीबी में हुई है। इस लिए वे गरीबों की तकलीफ़ समझते हैं। कहा कि फेसर रेलवे स्टेशन की विकास एवं यहां पर विभिन्न ट्रेनों की ठहराव को लेकर जल्द डीआरएम से मिलकर उन्हें अवगत कराऊंगा।
इस कार्यक्रम का संचालन फेसर पंचायत के सरपंच रामजन्म यादव एवं समाजसेवी इंदल यादव ने किया। इस मौके पर जिला महामंत्री मुकेश सिंह, भाजपा नेता रविन्द्र शर्मा, विनय शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी मितेन्द्र कुमार सिंह, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष चंदन सिंह, जिला कार्य समिति सदस्य धीरज गुप्ता, वार्ड सदस्य छोटू कुमार, शम्भू कटारे, नारद यादव, डीलर राम ध्यान यादव, संतोष सिंह, पूर्व मुखिया अजय पासवान, जगदीश भुईयां, बब्लू चौरसिया, समाजसेवी उपेन्द्र सिंह, रवि कुमार सहित सैंकड़ो ग्रामीण मौजूद थे।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button