राजनीतिविविध

ओबरा के हजारों बुनकरों को अच्छी आमदनी के साथ मिलेगी रोजगार

मार्च तक शुरू हो जाएगी सीएफसी केन्द्र

औरंगाबाद। भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के तहत बुनकरों एवं कामगारों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से स्फूर्ति योजना के तहत औरंगाबाद जिले के ओबरा प्रखंड के खरांटी में सामान्य सुविधा केन्द्र भवन का भूमी पूजन रविवार को सांसद सुशिल कुमार सिंह द्वारा किया गया। सांसद ने कहा कि समय के साथ पारंपरिक उद्योगों में गिरावट आती जा रही है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए स्फुर्ति योजना के अंतर्गत सामान्य सुविधा केन्द्र (सीएफसी) भवन का यह भूमी पूजन आज किया गया है। भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के तहत बुनकरों की सुविधा, फायदे एवं उन्हें रोजगार मुहैया कराने के लिए सीएफसी भवन का निर्माण किया जा रहा है। इस गांव में बुनकरों की अच्छी जनसंख्या वाला गांव है। इस केन्द्र से लगभग एक हजार की संख्या में बुनकरों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। इसका लाभ बुनकर एवं उनके परिवार की महिलाओं को मिलेगी।

यह उनके आर्थिक उन्नति का माध्यम बनेगा। जहां से उन्हें रोजगार भी प्राप्त होगा। वे जो भी उत्पाद तैयार करेंगे उसके विपणन की जिम्मेदारी इस केंद्र के संचालक की है। भारत सरकार ने एक ऐसी योजना बनाई है कि सब कुछ एक दूसरे से जोड़ कर रखा गया है। इस इलाके के बुनकरों को इस केंद्र के माध्यम से रोजगार के साथ-साथ आमदनी मुकम्मल हो, जिसका पुख्ता इंतजाम किया गया है। यहां नवीनतम तकनीक पर आधारित अत्याधुनिक मशीनें लगाई जाएगी। ताकि छोटे उद्यमी जो महंगी मशीनें नहीं लगा सकते, वो सीएफसी के माध्यम से नवीनतम तकनीक, डिजाइनिंग सेंटर आदि का लाभ ले सकता हैं। इसका मुख्य उद्देश्य परंपरागत उद्योगों और दस्तकारों को संकुलों के जरिए संगठित किया जाएगा, ताकि उन्हें प्रतिस्पर्धी बनाया जा सके और उनकी आय बढ़ाई जा सके। कारीगरों को बेसिक उपकरणों और सुविधाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाएगी। इस मौके पर जिला महामंत्री मुकेश सिंह, भाजपा नेता रविन्द्र शर्मा, विनय शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी मितेन्द्र कुमार सिंह, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष चंदन सिंह, जिला कार्य समिति सदस्य धीरज गुप्ता, ओबरा मंडल अध्यक्ष रिशु सिंह, अभाविप कार्यकर्ता पुष्कर अग्रवाल, मुन्ना कुमार, पैक्स अध्यक्ष मोनी सिंह, मौजूद रहे।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button