विविध

पांच वृद्ध जनों को किया गया सम्मानित

औरंगाबाद। जिला मुख्यालय स्थित ओवर ब्रिज बाइपास के समीप अवस्थित शिक्षक चंदन पाठक के आवास पर समकालीन जवाबदेही परिवार के तत्वावधान में विश्व वृद्धजन दिवस धूमधाम से मनाया गया। साथ ही साथ समकालीन जवाबदेही पत्रिका को निकालने वास्ते सदस्यों ने विचार समन्वय किया।

बैठक एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता अवकाश प्राप्त प्रोफेसर डॉ सिद्धेश्वर प्रसाद सिंह ने किया। जबकि संचालन आधुनिक हिंदी के विचित्र एवं रहस्यमई कवि नागेंद्र केसरी ने किया। पांच वृद्धजन सेवानिवृत्त बी डी ओ भैरव नाथ पाठक अवकाश प्राप्त प्रोफेसर डॉक्टर सी एस पांडेय अवकाश प्राप्त प्रोफेसर डॉ रामाधार सिंह अवकाश प्राप्त हेड मास्टर राम किशोर सिंह अवकाश प्राप्त शिक्षक पुरुषोत्तम पाठक को अंग वस्त्र पुष्प गुच्छ, लेखनी देकर सम्मानित किया गया।

संबोधन के क्रम में लोगों ने कहा कि वर्तमान युवा पीढ़ी को वृद्ध जनों के अनुभव का लाभ उठाना चाहिए बैठक में समकालीन जवाबदेही पत्रिका के सफल प्रकाशन वास्ते अर्थ संग्रह डिजाइनिंग एवं मूल्य पर चर्चा की गई विदित हो कि समकालीन जवाबदेही पत्रिका पांच वर्षों से लगातार निकलते आ रही है

प्रधान संपादक डॉ सुरेंद्र प्रसाद मिश्रा ने कहा कि पत्रिका प्रकाशन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है अक्टूबर के अंत या नवंबर के प्रथम सप्ताह में इसके लोकार्पण की संभावना है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ कुमार विरेंद्र ने कहा कि औरंगाबाद जैसे ग्रामीण जिले से इस तरह की पत्रिका निकलना यहां की साहित्यिक उर्वरता को दर्शाता है।

वर्तमान परिदृश्य में यह पत्रिका राष्ट्रीय स्तर पर चर्चित हो चुकी है इस पत्रिका के विभिन्न रचनाएं शोध कार्यों में भी अपनी भूमिका निभा रही हैं मौके पर प्रसिद्ध ज्योतिर्विद शिव नारायण सिंह, सिद्धेश्वर विद्यार्थी, आधुनिक कविता के सशक्त हस्ताक्षर धनंजय जयपुरी, नारायण जी धर्मेंद्र सिंह चंदन पाठक मुरलीधर मिश्रा , शिक्षक चंद्रशेखर साहू, सीनेश सिंह,समाजसेवी सुरेंद्र सिंह, प्रसिद्ध कवि विनय मामूली बुद्धि, सामयिक साहित्य संवाद के संयोजक सुरेश विद्यार्थी सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please remove ad blocer