विविध

एनसीसी ने मनाया विजय शौर्य दिवस, स्मृति स्तंभ लेकर 1700 किमी की यात्रा पर निकला कैडेट्स का दल

औरंगाबाद। भारतीय जवानों की ऐतिहासिक शौर्य गाथा एवं आजादी के अमृत महोत्सव हेतु स्वर्णिम विजय दिवस पर एनसीसी के 55 कैडेट बिहार के 1700 किलोमीटर के साइक्लोथॉन रैली पर निकलते हुए टीम का औरंगाबाद पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। भारतीय सेना के शौर्य गाथा की गौरव पूर्ण इतिहास के स्वर्णिम विजय वर्ष के अवसर पर राज्य के विभिन्न हिस्सों से भ्रमण कर औरंगाबाद पहुंचने पर बटालियन के सूबेदार विराज टोप्पो एवं इनसे जी पदाधिकारियों ने भव्य स्वागत किया। स्वागत समारोह में प्रतिभागियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भारतीय वर्ष 1971 को कभी नहीं भुला सकते कि भारतीय सैनिकों के समक्ष पाकिस्तानी सैनिकों ने आत्मसमर्पण कर दिए थे। 19 दिसंबर को भारतीय सेना के इतिहास के पटल पर स्वर्णिम अक्षरों में लिखित यह शौर्यय गाथा है। यह विजय दिवस का स्वर्णिम विजय दिवस के रूप में हमारे दिलों दिमाग में अंकित हो गया है। इस वर्ष विजय दिवस के कुल 50 वर्ष पूरे हो गए। भारतीय सेना के पराक्रम एवं शौर्य गाथा को नाटक के माध्यम से आम जनमानस के पटल पर पुनः जीवित कर दिया। इस महा साइकिल जागरूकता अभियान में 27 एनसीसी छात्र एवं 28 एनसीसी छात्रा पूरे 30 दिनों की यात्रा के बाद 19 दिसंबर को पटना स्मृति स्तंभ पहुंचेंगे। स्वर्णिम विजय साइक्लोथॉन का आयोजन एक महत्वपूर्ण कदम है। जो कि एनसीसी उड़ान एवं एनसीसी निदेशालय बिहार एवं झारखंड की ओर से कार्यक्रम की रूपरेखा के तहत बिहार के 9 अनुमंडल में अवस्थित सभी एनसीसी यूनिटों का भ्रमण करते हुए तथा मार्ग में पड़ने वाले विभिन्न शैक्षिक धार्मिक जगह पर हमारे भारतीय सेना के शौर्य गाथा का चित्रण करते हुए बढ़ रहे हैं। इस कैडेटों का हौसला ही है कि 1700 सौ किलोमीटर की लंबी यात्रा पर निकले हुए हैं। यह साइकिल यात्रा अपने स्वर्णिम विजय को पूरा करेगी और साथ ही स्वर्णिम विजय दिवस एवं आजादी के अमृत महोत्सव से जुड़े सभी साथियों को अपने प्रभाव से अपने क्षेत्र वाले इलाकों में बताएंगे। इसकी चर्चा स्थानीय समुदाय में भी की जाएगी। एनसीसी के मीडिया प्रभारी डॉ निरंज यकुमार ने बताया कि सभी प्रतिभागियों को को आवासन एवं अन्य सुविधाएं जिला पदाधिकारी औरंगाबाद एवं जिला नजारत उप समाहर्ता औरंगाबाद के द्वारा प्रदान की गई है। जिला प्रशासन औरंगाबाद के द्वारा इन्हें आवश्यक सहयोग भी दिया जा रहा है। डॉ कुमार ने बताया कि दिनांक 27 नवंबर 2021 को पूर्वाहन 7 बजे सभी साइक्लोथॉन रैली गया की ओर रवाना होंगे।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!

Adblock Detected

Please remove ad blocer