प्रशासनिकविविध

खाकी का इकबाल बुलंद हो तो अपराधी कापते हैं थर-थर 

औरंगाबाद। मादक पदार्थ कारोबारियों के खिलाफ चलाएं जा रहें सघन जांच अभियान में तस्करों के मंसूबों पर पानी फिर गयी हैं। कहते है कि अगर खाकी का इकबाल बुलंद हो तो अपराधी थर-थर कापते हैं, और खाकी यदि तैस में आ जाए तो अपराधियों की शामत आ जाती हैं, वहीं कर दिखाया हैं औरंगाबाद ज़िले के पुलिस अधीक्षक कंतेश कुमार मिश्र ने। उनके दिशा निर्देश पर चलाएं जा रहे जांच अभियान में अब तक सैकड़ों शराब माफिया को गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं, वहीं करोड़ों की संपत्ति भी जब्त की जा चुकी है। इधर बुधवार को शराब के सेवन वितरण व परिवहन के खिलाफ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर विभिन्न थानों द्वारा चुनाव के मद्देनजर चलाएं जा रहे छापामारी में 105 लीटर विदेशी शराब, 44 लीटर देशी शराब एवं 4343 किलोग्राम महुआ बरामद किया गया है। वहीं 01 कार व 01 पिकअप वाहन भी बरामद किया गया और मामले में 08 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिनके विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि शराब एक अभिशाप है। इससे न जाने कितनी महिलाओं के घर बर्बाद हो गए। किसी का सुहाग उजड़ गया, तो किसी के बुढ़ापे का सहारा छिन गया। यह समाज को दीमक की तरह खाए जा रही है। इससे लोगों बचने की जरूरत हैं।

वहीं, इधर उन्होंने नवरात्रि में भक्त श्रद्धालुओं से अपील की है कि इसे आपसी भाईचारा व शान्तिपूर्वक मनाएं। कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। इस दौरान सतर्कता बरतने की जरूरत है। पुलिस हर गतिविधियों पर नजर रख रही है। कहा कि त्योहार हमें आपस मे मिलने व सद्भाव का बढावा देने का काम करते है। हमें एक दूसरे की भावनाओं का आदर करते हुये त्योहारों को आपसी भाईचारे व प्रेम पूर्वक मिलजुल कर मनाना चाहिए। त्यौहारों में हमारी संस्कृति भी महकती है।

 

 

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button