प्रशासनिक

लोगों की दरवाजे पर मिल रहा है सरकारी सुविधाओं का लाभ

औरंगाबाद। जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल की पहल पर जिला प्रशासन ने एक नई शुरुआत की है । इस शुरुआत के तहत सुदूरवर्ती नक्सल प्रभावित इलाके के गांव में पूरा प्रशासन पहुंच रहा है और लोगों को उनके दरवाजे पर सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। इस क्रम में पहला मेगा प्रशासनिक सहायता शिविर नवीनगर प्रखंड के सुदूरवर्ती एवं अति नक्सल प्रभावित गांव हरिहर उर्दाना में लगाया गया जहां जिला प्रशासन द्वारा सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लोगों को उपलब्ध कराया गया तथा इसके बारे में लोगों को जानकारी दी गई। स्वयं जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल भी इस शिविर में पहुंचे और वहां जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीणों को उपलब्ध कराई जा रही सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं जैसे स्वास्थ्य शिविर, आधार कार्ड, पेंशन, जॉब कार्ड, राशन कार्ड, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, बैंक खाता. डीआरसीसी की योजनाएं, आवास योजना एवं मनरेगा योजना आदि की सुविधाओं का जायजा लिया गया।

गौरतलब हो कि जिला प्रशासन की टीम द्वारा इस अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र में शिविर लगाकर सरकार के विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। इस दौरान डीएम द्वारा ग्राम हरिहर उरदाना में आयोजित शिविर में ग्रामीणों को दी रही विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं के अद्यतन स्थिति की जानकारी ली गई।

इस शिविर में जिला आपूर्ति शाखा एवं प्रखंड कार्यालय द्वारा ग्रामीणों को नए आधार कार्ड बनाने एवं आधार कार्ड में सुधार करने हेतु एवं राशन कार्ड बनाने को लेकर कैंप लगाया गया था। इस दौरान आज कुल 15 लोगों का नया आधार कार्ड बनाया गया एवं कुल 111 लोगों से राशन कार्ड बनवाने हेतु फॉर्म क एवं ख लिया गया। इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग द्वारा विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का भी आयोजन किया गया था जिसमें ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाओं यथा कोविड टीकाकरण (55 लोग), बीपी जांच (57), आरपीएस जांच (73), ओपीडी (54), दवाइयों का वितरण (325 लोग) इत्यादि का लाभ दिया गया। इस दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर में जिला पदाधिकारी एवं सहायक समाहर्ता द्वारा स्वयं शुगर की जांच कराई गई।

इसके अतिरिक्त आईसीडीएस कार्यालय द्वारा प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना एवं मुख्य मंत्री कन्या उत्थान योजना का शिविर लगाकर सीडीपीओ नबीनगर एवं अन्य कर्मियों द्वारा इन दोनों योजनाओं का लाभ स्थानीय लोगों को दिया जा रहा था। इस दौरान प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत 07 आवेदन प्राप्त किए गए। मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना एवं परवरिश योजना के कुल 1 -1 आवेदन प्राप्त किए गए।

इसके अतिरिक्त इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, औरंगाबाद के कर्मियों द्वारा स्थानीय ग्रामीणों का खाता खोलने की कार्रवाई कैंप के माध्यम से की गई एवं आज कुल 43 नए बैंक खाता खोले गए।

निदेशक डीआरडीए द्वारा बताया गया कि स्थानीय अनस्किल्ड वर्कर्स के लिए मनरेगा के तहत रोजगार सृजन करने हेतु जॉब कार्ड बनाने की कार्रवाई की गई। इस दौरान जॉब कार्ड हेतु कुल 50 आवेदन प्राप्त किया गया। इसके अतिरिक्त जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, औरंगाबाद द्वारा प्रधान मंत्री आवास योजना का लाभ देने हेतु कुल 150 आवास विहीन लाभुकों से आवेदन लिया गया।

जिला योजना पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि इस दौरान डीआरसीसी औरंगाबाद द्वारा ग्रामीणों को कुशल युवा प्रोग्राम, स्वयं सहायता भत्ता योजना एवं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का लाभ देने की कार्रवाई की गई। इस दौरान आज कौशल विकास योजना के तहत कुल 54 छात्रों से आवेदन लिया गया। इसके अलावा स्वयं सहायता भत्ता योजना एवं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के तहत कुल 19 आवेदन प्राप्त किए गए।

जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग द्वारा कुल 51 लाभुकों से समाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ देने हेतु उनसे आवश्यक कागजात लिया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकार, औरंगाबाद द्वारा ग्रामीणों को विधिक सहायता पहुंचाने से संबंधित पैंपलेट का वितरण किया गया। अंचल कार्यालय नबीनगर द्वारा कुल 40 लोगों से भूमि से संबंधित आवेदन प्राप्त किया गया।

जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा औरंगाबाद जिले में अल्प वर्षापात के मद्देनजर ग्रामीण लोगों को कृषि कार्य के संबंध में सलाह दी गई एवं स्थानीय लोगों को वैकल्पिक फसल योजना के तहत बीज वितरण एवं डीजल अनुदान योजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। जिला पशुपालन कार्यालय द्वारा कुल 520 पशुओं के लिए दवा दी गई।

जिला पदाधिकारी द्वारा इस दौरान हरिहर उरदाना ग्राम के स्थानीय ग्रामीण लोगों से बात चीत की गई एवं उनकी समस्याओं से अवगत हुए। इस दौरान ग्रामीणों द्वारा राशन कार्ड, पेंशन, नल जल, आवास, भूमि विवाद इत्यादि समस्याओं से अवगत कराया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा संबंधित पदाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिए गए। मौके पर उपस्थित माननीय मुखिया द्वारा इस गांव के खाली पड़े मैदान में स्टेडियम निर्माण हेतु जिला पदाधिकारी से आग्रह किया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा संबंधित पदाधिकारी को इस संबंध में अग्रेतर कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया। साथ ही ग्रामीणों द्वारा नबीनगर में अवस्थित राजा पोखर को अतिक्रमण मुक्त कर जिर्णोद्धार करने के लिए जिला पदाधिकारी से अनुरोध किया गया।

इस अवसर पर प्रशिक्षु आईएएस सह सहायक समाहर्ता शुभम कुमार, सिविल सर्जन डा वीरेन्द्र प्रसाद, जिला परिवहन पदाधिकारी बाल मुकुंद प्रसाद, अनुमंडल पदाधिकारी विजयंत, वरीय उप समाहर्ता कृष्णा कुमार, वरीय उप समाहर्ता अमित सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी रणवीर सिंह, बीडीओ नबीनगर देवानंद कुमार सिंह, डीपीएम हेल्थ मनोज कुमार, डीपीओ राजीव रंजन, बीएचएम नबीनगर, कार्यक्रम पदाधिकारी नबीनगर, आरओ नबीनगर एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button