चुनाव

छिटपुट घटनाओं के बीच 65 फीसदी मतदान

          – रामविनय सिंह 

गोह (औरंगाबाद) छिटपुट घटनाओं को छोड़कर काफी गहमागहमी के बीच बुधबार को शांतिपूर्वक पंचायत चुनाव सम्पन्न हो गया। अंतिम समाचार मिलने तक कई स्थानों पर लाइन लगी रही। वहीं मतदान केन्द्रों से सील बक्सा लेकर मतदानकर्मी ब्लाक स्तर पर बने स्ट्रांगरूम में जमा कराने लगे। शाम 4 बजे तक 65.16 प्रतिशत मतदान हुआ। गोह के 20 ग्राम पंचायतों में बुधबार को एक साथ मतदान कराया गया। मतदान कराने के लिए मंगलवार की शाम को पोलिंग पार्टियां पहुंच गई थीं। सुबह निर्धारित समय से मतदान शुरू कराया गया। लेकिन झिकटिया पंचायत के घोटा बुथ संख्या 273 पर पंसस का evm में खराबी रहने के कारण दो घंटे मतदान बाधित रहा।वही बाजार बर्मा पंचायत के बेला बारिस बूथ पर जिला परिसद का evm खराब के कारण लगभग 1 घंटा मतदान बाधित रहा। इधर अमारी पंचायत के संकरडीह बूथ पर ईवीएम में खराबी के कारण घंटो मतदान बाधित बाकी मतदान केंद्रों पर मतदान समय से चलता रहा। मतदान को शांतिपूर्ण तरीके से कराने के लिए दिन भर अधिकारी व सेक्टर तथा जोनल मजिस्ट्रेट दौरा करते रहे। शाम 4 बजे तक मतदान होना था। लेकिन कई मतदान केंद्रों पर मतदाता की लंबी लाइन के करण साढ़े चार बजे तक मतदान होता रहा। हालांकि कई केन्द्रों पर समय से एभीएम को सील कर दिया गया। इसके साथ ही पोलिंग पार्टियां ब्लाकों में बनाए गए स्ट्रांगरूम पहुंच कर एभीएम को जमा कराने में लगे रहे। मतदान को शांतिपूर्ण और निष्पक्ष तरीके से कराने के लिए जिले के सभी आला अधिकारी, चुनाव प्रेक्षक, कमिश्नर और डीएम व एसपी मतदान केन्द्रों का जायजा लेते रहे। शाम तक शांतिपूर्ण तरीके से मतदान होने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली।

दोपहर के बाद बढ़ी महिलाओं की भागीदारी

पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासन सतर्क रहा। हर संवेदनशील बूथों पर कड़ी नजर रखी जा रही थी। संवेदनशील गांवों में अधिकारी पल-पल की खबर लेते रहे। मतदान को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह रहा। अधिकांस महिलाएं दो बजे के बाद घर का कामकाज निपटा कर मतदान केंद्रों पर पहुंची तो लंबी कतार लग गई। किसी भी मतदान स्थल पर कोरोना गाइड लाइन व आदर्श आचार संहिता का अनुपालन नहीं दिखा। बूथों के समीप प्रत्याशियों के पोस्टर दिखे। इन पर प्रशासन की नजर नहीं पड़ रही थी। मतदान के लिए तैनात कर्मचारियों ने भी इन्हें नजरअंदाज किया। किसी भी गांव में प्रत्याशियों के बैनर-पोस्टर नहीं उतरवाए गए थे।

नहीं दिखा शारीरिक दूरी का अनुपालन

गोह प्रखंड के सभी गांवों में स्थित मतदान केंद्रों पर सुबह से ही मतदान शुरू हो गया था। जैसे-जैसे दिन चढ़ने लगा, कतारें लंबी होती गईं। महिला, पुरुष, युवक, युवतियां, बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। कतारों में मास्क की अनिवार्यता तो बिल्कुल ही नही दिखाई दिया।साथ ही शारीरिक दूरी का अनुपालन कहीं नहीं दिखा। मतदान केंद्रों पर छाया की व्यवस्था नहीं होने से तेज धूप में कतार में खड़ा होना मतदाताओं पर भारी पड़ रहा था। उम्र दराज लोगों को अधिक परेशान होना पड़ा।

धूप की परवाह किए बिना कतार में खड़े रहे मतदाता

गोह प्रखंड में कड़कड़ाती धूप की परवाह किए बिना मतदाता खड़े रहे। स्वजन के साथ पहली बार मतदान करने आए युवक व युवतियां घंटों कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते रहे। बाजार बर्मा स्थित बूथ न0 120 पर पहली बार वोट देने पहुँची युवती चान्दनी कुमारी, खुसबू कुमारी व काजल कुमारी वही गोपालपुर गांव स्थित मतदान केंद्र पहली बार वोट डालने पहुंचे रूबी कुमारी, क्रांति कुमारी व प्रीति कुमारी ने कहा कि मैं पहली बार वोट देने पहुँची हूं। बहुत अच्छी लग रही है। हम लोगों को गांव की सरकार बनाने में सहभागिता का मौका मिला है। मतदाता बनने के बाद 2 नवम्बर का बेसब्री से इंतजार था। पहली बार वोट देकर गर्व महसूस कर रहे हैं।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button