मगध हेडलाइंस

बापू की अमृत महोत्सव के तहत मनायी गयी 152 वीं जयंति

औरंगाबाद। जिला विधिक सेवा प्राधिकार, औरंगाबाद के तत्वाधान में अगले 42 दिन तक चलने वाली भारत के अमृत महोत्सव के अंतर्गत विशेष जागरूकता कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। कार्यक्रम की शुरुआत में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के तैलचित्र पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार तिवारी, प्रधान न्यायधीश रामलाल शर्मा के साथ-साथ उपस्थित सभी न्यायिक पदाधिकारी पैनेल अधिवक्ता और गणमान्य लोगों के माल्यार्पण और पुष्पांजली दिया गया, इसके उपरांत जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार तिवारी, प्रधान न्यायधीश रामलाल शर्मा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा प्राधिकार के सचिव प्रणव शंकर, जिला विधि संघ के अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार योगी, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष संजय कुमार सिंह के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का औपचारिक शुरुआत किया गया। कार्यक्रम में आये सभी गणमान्य लोगो का स्वागत अभिभाषण प्राधिकार के सचिव प्रणव शंकर ने किया अपने स्वागत अभिभाषण में उन्होंने बताया कि हमलोग के बीच में माननीय जिला एवं सत्र न्यायधीश है जो विधिक सेवा प्राधिकार के राज्यस्तरीय बॉडी में उस समय कार्य किये हैं जब विधिक सेवा प्राधिकार अपने शैषव अवस्था में था। विधिक सेवा प्राधिकार लगातार उनके अनुभवों से तथा उनके क्रिएटिव आईडियाज का लाभ उठाता रहा है और हमलोग परम सौभाग्यशाली है कि आज उनके सानिध्य तथा उनके आशीर्वाद से जिला विधिक सेवा प्राधिकार यह कार्यक्रम आयोजित कर पा रहा है। हम यहां आज यह कार्यक्रम कर रहे हैं यह एक शुरूआत है। हम यहां के लोगो को यह आशवस्त करना चाहते हैं कि जिला विधिक सेवा प्राधिकार, औंरंगाबाद जिले वासियों के विधिक अधिकारों के बारे में न सिर्फ जागरूक करेगा बल्कि जरूरतमंदों और जिलेवासियों के विधिक अधिकारों को उपलब्ध कराने में अग्रणी भूमिका निभायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी स्तर से जिले वासियों के विधिक अधिकारों को दिलाने में जिला विधिक सेवा प्राधिकार कार्य करेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने कहा की यह जिला पुरे धरती को प्रकाशित करने वाले भगवान सूर्य के पवित्र देव मंदिर के लिए जानी जाती है, अतः हम सबका प्रयास होनी चाहिए की विधिक अधिकारों के प्रति जागरूकता की रौशनी जिला के साथ साथ पुरे देश में फ़ैलाने में औरंगाबाद जिला विधिक सेवा प्राधिकार सूर्य की तरह रौशनी बिखेरने का कार्य करे और राज्य और देश के लिए आदर्श बने तभी हम अपने कर्तब्यो में सफल हो पायेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम जिसकी शुरूआत आज हो रही है यह अमृत महोत्सव के तहत औपचारिक रूप से 42 दिन का है जिसका कैलेण्डर आज जारी हो रही है परन्तु प्राधिकार सिर्फ 42 दिन कार्यक्रम करके चुप नहीं रहेगा अपितु प्राधिकार का कार्यक्रम का निरंतर इसी रूप से लोगों को विधिक अधिकार दिलाने के लिए चलता रहेगा जबतक कि समस्त जिलावासी अपने अधिकारों के सजग और लाभान्वित न हो जाए। उन्होंने आगे कहा की जल्द ही जिला विधिक सेवा प्राधिकार, औरंगाबाद कुछ पंचायतो को चुना जायेगा जहां कोशिस करेंगे की वहां के सभी विवाद समाप्त किया जा सके साथ ही उक्त चुने पंचायतो के निवासीयों को सभी विधिक अधिकार उपलब्ध हो जाये।

उन्होंने उपस्थित सभी अर्ध विधिक स्वय सेवको को अपील किया की वे अपने अपने पंचायतो में जरुरतमन्द लोगो की डाटा तैयार करें ताकि हम उस तरफ आगे कार्य कर सकें और उस . कार्यक्रम में प्रधान न्यायाधीश राम लाल शर्मा, योगेन्द्र कुमार योगी, संजय कुमार सिंह ने अपने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन सुदीप कुमार पाण्डेय न्यायिक दंडाधिकारी ने किया। औचारिक उद्घाटन के उपरांत किशोरी सिन्हा कन्या उच्च विद्यालय एवं अनुग्रह कन्या उच्च विद्यालय के छात्राओं ने जिला विधिक सेवा प्राधिकार के बैनर एवं तख्ती के साथ भव्य प्रभात फेरी जो लगभग व्यवहार न्यायालय परिसर से निकलकर दानी विगहा तक जयघोष एवं विधिक सेवा जागरूकता स्लोगन के साथ चली। उनके साथ जिला प्रशासन के सुरक्षा कर्मी, स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम स्कॉट कर रही थी इस प्रभात फेरी कार्यक्रम को सफल बनाने में जिला शिक्षा पदाधिकारी संग्राम सिंह, कार्यक्रम समन्वयक निरंजय कुमार, प्राचार्या उषा सिंह, शिक्षिका अभिभावक श्वेता सिंह, अर्पणा सिंह, सिल्पी सिंह तथा शिक्षक अभिभावक संजय बैठा, ओम कुमार एवं एन०सी०सी कैडेट में विक्रम करण, भीम, नवीन, विकास, अनुप, धीरज भी पुरे प्रभात फेरी कार्यक्रम को अनुशासन के साथ सम्पन्न करायें। जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा यह आशवस्त किया गया है कि जिन-जिन तिथियों में विद्यालय के माध्यम से कार्यक्रम आयोजित करने के लिए निदेश दिया गया है, उस कार्यक्रम को निर्धारित तिथि पर आयोजित कर सफल बनाया जायेगा। इस पुरे कार्यक्रम की संरचना में पैनल अधिवक्ता अभिनन्दन कुमार, नवीन कुमार राणा सरोज कुमार सिंह संतोष सिंह सुजीत कुमार सिंह अंजनी कुमार सिंह सतीश कुमार स्नेही के साथ अन्य पैनल अधिवक्ताओं का योगदान रहा तथा आगे की तिथियों में आयोजित कार्यक्रमों में अपनी सहभागिता से कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देने की बात कही गयी।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please remove ad blocer