मगध हेडलाइंस

पंडित दीनदयाल उपाध्याय की मनाई गई 105 वीं जयंती, किए गए याद 

औरंगाबाद। जनसंघ के संस्थापक अंत्योदय के जनक एकात्म मानववाद दर्शन के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 105 वी जयंती समारोह औरंगाबाद शहर के वार्ड नंबर 20 नावाडीह में भारतीय जनता पार्टी के नेता जय किशोर मिश्रा की अध्यक्षता में मनाया गया। सर्वप्रथम उपस्थित कार्यकर्ताओं के द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय के तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर वंदे मातरम गीत के साथ साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस अवसर पर मुख्य रूप से उपस्थित भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पुरुषोत्तम कुमार सिंह ने उनकी जीवनी पर चर्चा करते हुए बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय को पुरा देश आज याद कर रहा है। देशभर में आज उनकी 105 वीं जयंती मनाई जा रही है। इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर तमाम दिग्गजों ने उन्हें नमन किया है। आज ही के दिन यानी 25 सितंबर 1916 को दीनदयाल का यूपी के मथुरा में जन्म हुआ था। उन्होंने कहा कि एकात्म मानव दर्शन के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। उन्होंने राष्ट्र निर्माण में अपना जीवन समर्पित कर दिया। उनके विचार देशवासियों को सदैव प्रेरित करते रहेंगे। सदैव जनकल्याण के लिए करते रहेंगे प्रेरित।। दूरदर्शी राजनीतिज्ञ पं. दीनदयाल उपाध्याय जी ने समय समय पर विभिन्न चुनौतियों व समस्याओं के निराकरण के लिए अपने विचार-दर्शन से देश का मार्गदर्शन किया। पंडित जी के एकात्म मानववाद व अंत्योदय के मंत्र सदैव हमें जनकल्याण व राष्ट्रसेवा के लिए प्रेरित करते रहेंगे। उन्हें कोटिशः नमन है। दीनदयाल कहां करते थे आप समाज की चिंता करोगे तो समाज आपके चिंता करेगा समाज अपने पास कुछ नहीं रखता है उन्होंने समाज की तुलना मां से करते हुए कहा था जब कोई बेटा अपनी कमाई मां को ला कर देता है तुमा स्वयं ना खाकर बेटे को ही खिलाती है इसी तरह से समाज अपने पास कुछ भी नहीं रखते हुए हमको देता है व्यक्ति को समाज से जुड़ने के लिए इससे बेहतर उदाहरण क्या हो सकता है। कार्यक्रम में उपस्थित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सुनील कुमार शर्मा एवं रघुनाथ राम ने अपने संबोधन में कहा कि भारत में हर साल 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस मनाया जाता है। अंत्योदय दिवस पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के रूप में मनाया जाता है. आज के दिन देश में गरीबों के उत्थान में तमाम अंत्योदय योजनाएं चल रही हैं। पंडित दीनदयाल ने बिना भाषण दिए लाखों कार्यकर्ताओं को मार्गदर्शन करने का काम किया संगठन आंतरिक लोकतंत्र सबसे पहले देश उसके बाद पार्टी अंत में मैं जैसी सिद्धांतों की राजनीति की जो घोटी दीनदयाल ने जन संघ के कार्यकर्ताओं को पिलाई वह आज भी भाजपा के कार्यकर्ताओं को संस्कारित करती है। इस दौरान भाजपा नेता किसान मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुनील कुमार सिंह, विनोद सिंह, शंभू मिश्रा, इंजीनियर कुश कुमार, प्रवक्ता अनिल गुप्ता, टुना प्रसाद गुप्ता, विरेंद्र कुमार सिन्हा, जय किशोर मिश्रा, अभय कुमार, सूरज कुमार, सतीश पाठक, प्रकाश मिश्रा, बेचू चंद्रवंशी, वीरेंद्र पाठक ,गुड्डू मिश्रा, छोटू कुमार, संतोष यादव, अजय कुमार, मनीष तिवारी, डब्लू मिश्रा, रामानंद पासवान, सहित अन्य लोग शामिल थे।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button