राजनीति

नक्सल प्रभावित औरंगाबाद एवं गया जिलें के 205 किलोमीटर सड़कों का कराए जाएंगे जीर्णोद्धार: सांसद 

औरंगाबाद। वामपंथी उग्रवाद प्रभाग योजना अंतर्गत औरंगाबाद और गया जिले के विभिन्न पथों के निर्माण हेतू सांसद सुशील कुमार सिंह ने गृहमंत्री अमीत शाह से मुलाकात कर 205 किलोमीटर सड़क निर्माण को लेकर आग्रह किया है। सांसद ने कहा कि भारत सरकार की एक योजना वामपंथी उग्रवाद प्रभाग है जिसके तहत नक्सली जिलों में सड़कों के निर्माण कार्य कराए जाते हैं, इसी सिलसिले में हमने पूर्व में गृह मंत्री से मुलाकात की थी और बताया था कि हमारा संसदीय क्षेत्र औरंगाबाद एवं गया जिला वामपंथ, उग्रवाद (नक्सलवाद) से भयंकर रूप से ग्रसित है, इन क्षेत्रों में पथों की कमी के कारण आम जनता को काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है एवं पथों के अभाव में प्रशासनिक अधिकारियों को भी विभिन्न क्रियान्वयन में समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यदि इन पथों का निर्माण होता है तो आवगमन सुगम होने के साथ-साथ उग्रवाद पर भी पुलिस को काबु पाने में काफ़ी सहूलियत होगी। तथा आम जनजीवन सामान्य होंगे। सांसद ने कहा है कि औरंगाबाद जिले के सुसनार से अदरी नदी बकनघाट भाया खैरी मोड़, कर्मा, इगुना, चतरा मोड़, अदरी नदी कॉलनी, श्मशान घाट तक पथ का निर्माण कार्य जो लगलग 20 कि.मी. हैं जिसका निर्माण कराया जाए, इसके अलावा एनएच 139 से अंबा-देव पथ भाया बिजौली, चंदौली कंचन बिगहा, पिपरा, कुंडा सिमरा पथ चोरहा, परसावां तक पथ निर्माण कार्य  लगभग 30 कि.मी. हैं, शिवगंज-रफीगंज स्टेट हाईवे से मदनपुर-रफीगंज पथ भाया घरहारा, ढोसिला, कांडी, निजामपुर तक पथ निर्माण कार्य लगभग 10 कि.मी. हैं, रफीगंज से कर्मी हाई स्कूल एस एच 69 तक भाया गुलाब बिगहा, पोगर तक पथ निर्माण कार्य दूरी लगभग 07 कि.मी हैं, रफीगंज – ओबरा पथ ( कोटवारा मोड़ ) से मलूक बिगहा, गरवा होते हुए रफीगंज – भदवा पथ तक पथ निर्माण कार्य की दूरी लगभग 06 कि.मी. हैं,

सिसियप से सिमारा तक पथ निर्माण कार्य लगभग 06 कि.मी, भरथैली मोड़ से एरका कॉलनी भाया भरथैली, चतरा मोड़, भलुहारा, बैराव तक पथ निर्माण कार्य लगभग 30 कि.मी., भरथौली से उन्थू कॉल तक पथ निर्माण लगभग 10 कि.मी, देव मोड़ से भोला बिगहा तक पथ निर्माण कार्य लगभग 10 कि.मी. हैं। माली से रामनगर भाया पड़रिया, चिरैयाटाड़, गोवास, चिन्तावन बिगहा, कुटुम्बा पशियारा मोड़, महुआधाम, काला पहाड़ तक पथ निर्माण कार्य लगभग 20 कि.मी, बभनसोता मोड़ से रामनगर माया शिवगंज, सिमरी, गम्हरिया, सुरजपुरा तक निर्माण कार्य लगभग 08 कि.मी, प्रखण्ड अंबा-नबीनगर से चकुआ पथ का निर्माण लगभग 4.7 कि.मी. हैं।

औरंगाबाद जिला अंतर्गत खरडीहा मोड़ ( खखड़ा बालूगंज) एल डब्लू ई पथ) से रिसियप, पटना- डालटेनगंज एनएच -139 पथ) भाया भोर बिगहा, पासी बिगहा खरडीहा पार नदी, कोईरी बिगहा अजनियां, सिमरा, मंझार , भटौंघा, मिर्जापुर, भरौंधा तक लगभग 12.50 कि.मी. है। सांसद ने बताया कि इसके अलावा वैसे पथ जिसका क्षेत्र गया एवं औरंगाबाद दोनों जिलों में पड़ता है। देव से छकरबंधा भाया खडीहा, कंचनपुर, भंडारी, सतनदिया जंगल, बिहारी कुआ, नन्दमहल धाम, घंटी, छकरबंधा स्कूल तक पथ का निर्माण लगभग 22 कि.मी. हैं, भलुआड़ी कैप से झरना, चंचलगोरया, खरदाग, महुड़ी होते हुए डुमरिया तक पथ निर्माण कार्य दूरी लगभग 4.7 कि.मी. है।

सांसद ने बताया कि औरंगाबद जिले के देव प्रखंड में रिंग रोड निर्माण कराने की हमने मांग किया गया है। उन्होंने बताया कि देव प्रखंड के कुम्हार बिगहा मोड़ से कुम्हार बिगहा मोड़ तक, कुम्हार बिगहा से बाला पोखर तक, बाला पोखर स्कूल से हरिकीर्तन बिगहा मोड़ तक , हरिकीर्तन बिगहा मोड़ से राजा बांध तक, राजा बांध से सूदी बिगहा मोड़ तक, सूदी बिगहा मोड़ से गोदाम तक , गोदम से एस एच 101 तक, एचएच 101 से पाताल गंगा गेट तक , पाताल गंगा गेट से तालाब , पाताल गंगा से नरची पथ तक, नरची पथ से नरची गेट तक, बहुआरा पथ से बेलसारा पथ तक, बेलसारा पथ में महिला संसाधन केन्द्र से गोदाम तक, गोदाम से देव मोड़ से देव पथ ( पॉवर हाउस) तक रोड निर्माण कुल 10.950 किलोमिटर होता है। उन्होंने कहा कि यदि इन सभी सड़कों को एक साथ जोड़ कर रिंग का निर्माण कराया जाए तो देव क्षेत्र का लगभग संपूर्ण विकास हो सकता है।

Admin

The purpose of this news portal is not to support any particular class, politics or community. Rather, it is to make the readers aware of reliable and authentic news.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button